Thursday, October 28, 2021
2-Bansal
4-MountLitera
1-Gurumaa-Dental-Care-scaled
6-Akansha
5-JilaPanchyat
previous arrow
next arrow
Shadow
2-Bansal
4-MountLitera
1-Gurumaa-Dental-Care-scaled
6-Akansha
5-JilaPanchyat
previous arrow
next arrow
Shadow
Home राज्य उत्तराखंड कोविड से अनाथ हुए 640 बच्चों को आज से मिलेगा वात्सल्य योजना...

कोविड से अनाथ हुए 640 बच्चों को आज से मिलेगा वात्सल्य योजना का लाभ, सीएम धामी करेंगे शुभारंभ

एफएनएन, देहरादून : कोविड में अनाथ हुए 640 बच्चों को आज से वात्सल्य योजना का लाभ मिलेगा। डीबीटी (डायरेक्ट बेनिफिट ट्रांसफर) के माध्यम से सीधे खातों में सरकारी आर्थिक सहायता मिलेगी। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी अपने आवास से सोमवार को योजना का शुभारंभ करेंगे। प्रदेश में कोरोना की पहली और दूसरी लहर ने काफी कहर बरपाया। कई बच्चे अनाथ हो गए जो अपने माता-पिता या दोनों में से किसी एक को खो चुके हैं। विभाग की ओर से इस तरह के अब तक 2311 बच्चे चिन्हित कर लिए गए हैं, लेकिन फिलहाल 27 फीसदी बच्चों को ही वात्सल्य मिलेगा। जिलाधिकारियों की ओर से इन बच्चों के सत्यापन का काम पूरा कर लिया गया है। जबकि चिन्हित किए गए अन्य बच्चों के सत्यापन की प्रक्रिया अभी चल रही है।

विभागीय सचिव हरि चंद्र सेमवाल के मुताबिक शुरुआत में 640 बच्चों के सत्यापन की प्रक्रिया पूरी हो चुकी है। इन सभी बच्चों के एकाउंट भी खोल दिए गए हैं। जिन्हें डीबीटी के माध्यम से आर्थिक सहायता मिलने लगेगी। जबकि अन्य बच्चों का संबंधित जिलों के जिलाधिकारियों के माध्यम से सत्यापन कराया जा रहा है।

विभागीय सचिव ने कहा कि जैसे-जैसे सत्यापन की प्रक्रिया पूरी होती रहेगी, चिन्हित किए गए अन्य बच्चों को भी योजना का लाभ मिलने लगेगा। उन्होंने कहा कि उत्तराखंड में सरकार की ओर से योजना का दायरा बढ़ाते हुए कोविड के अलावा अन्य बीमारियों से माता-पिता या दोनों में से किसी एक की मौत पर अनाथ हुए बच्चों को भी योजना का लाभ दिया जा रहा है।

ऐसा इसलिए भी किया गया है कि कुछ व्यक्तियों की कोविड की जांच रिपोर्ट आने से पहले ही मौत हो गई। ऐसे में पीड़ितों को राहत देने के लिए कोविडकाल में जो भी बच्चा अनाथ हुआ है उसे इस दायरे में लाया जा रहा है। इसके अलावा पीएम केयर्स फॉर चिल्ड्रन योजना के तहत भी कोरोना महामारी के कारण अपने माता-पिता को खो चुके बच्चों को सहायता दी जा रही है। इन बच्चों को 18 साल की उम्र तक आयुष्मान भारत योजना के तहत पांच लाख का हेल्थ इंश्योरेंस दिया जा रहा है। इसके अलावा 18 साल की उम्र में मासिक छात्रवृत्ति एवं 23 साल की उम्र में पीएम केयर्स से 10 लाख का फंड दिया जाएगा।

 

RELATED ARTICLES

मंडी समिति अध्यक्ष बनते ही ‘ अमीर ‘ हो गए केके दास, कई वर्षों से बीपीएल कार्ड का ले रहे थे लाभ, अब एपीएल...

एपीएल कराकर भी फंस गए मंडी अध्यक्ष केके दास कंचन वर्मा, रुद्रपुर : मंडी समिति रुद्रपुर का अध्यक्ष बनते ही केके दास गरीब से...

हरिद्वार से शिमला जा रही एचआरटीसी की बस पलटी, कुछ लोगों को आई चोटें

एफएनएन, देहरादून : गुरुवार सुबह हरिद्वार से शिमला जा रही एचआरटीसी की बस हरिपुर-मीनस मार्ग पर कोटा-क्वानू के पास अनियंत्रित होकर सड़क पर पलट गई।...

मुख्यमंत्री धामी ने बदरीनाथ धाम पहुंचकर की भगवान बदरीनाथ की विशेष पूजा-अर्चना

एफएनएन, गोपेश्‍वर :  मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने गुरुवार को बदरीनाथ धाम पहुंचकर भगवान बदरीनाथ की विशेष पूजा-अर्चना करते हुए देश और प्रदेश की...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

मंडी समिति अध्यक्ष बनते ही ‘ अमीर ‘ हो गए केके दास, कई वर्षों से बीपीएल कार्ड का ले रहे थे लाभ, अब एपीएल...

एपीएल कराकर भी फंस गए मंडी अध्यक्ष केके दास कंचन वर्मा, रुद्रपुर : मंडी समिति रुद्रपुर का अध्यक्ष बनते ही केके दास गरीब से...

हरिद्वार से शिमला जा रही एचआरटीसी की बस पलटी, कुछ लोगों को आई चोटें

एफएनएन, देहरादून : गुरुवार सुबह हरिद्वार से शिमला जा रही एचआरटीसी की बस हरिपुर-मीनस मार्ग पर कोटा-क्वानू के पास अनियंत्रित होकर सड़क पर पलट गई।...

मुख्यमंत्री धामी ने बदरीनाथ धाम पहुंचकर की भगवान बदरीनाथ की विशेष पूजा-अर्चना

एफएनएन, गोपेश्‍वर :  मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने गुरुवार को बदरीनाथ धाम पहुंचकर भगवान बदरीनाथ की विशेष पूजा-अर्चना करते हुए देश और प्रदेश की...

डंपर ने चार आंदोलनकारी महिला किसानों को रौंदा, तीन की मौत, एक गंभीर

एफएनएन, बहादुरगढ़: झज्जर रोड पर बाईपास के फ्लाईओवर के नीचे ऑटो की प्रतीक्षा कर रही आंदोलन में आई चार महिला किसानों को तेज रफ्तार...

Recent Comments