Tuesday, October 26, 2021
2-Bansal
4-MountLitera
1-Gurumaa-Dental-Care-scaled
6-Akansha
5-JilaPanchyat
previous arrow
next arrow
Shadow
2-Bansal
4-MountLitera
1-Gurumaa-Dental-Care-scaled
6-Akansha
5-JilaPanchyat
previous arrow
next arrow
Shadow
Home राज्य दिल्ली कोवैैक्सीन को 4-6 हफ्ते में मिल सकती है आपातकाल इस्तेमाल की मंजूरी,...

कोवैैक्सीन को 4-6 हफ्ते में मिल सकती है आपातकाल इस्तेमाल की मंजूरी, WHO ने दी अहम जानकारी

एफएनएन, नई दिल्ली :  विश्व स्वास्थ्य संगठन  जल्द ही भारत बायोटेक की कोविड-19 वैक्सीन कोवैक्सीन  के लिए आपातकालीन मंजूरी पर अहम फैसला लेने वाला है। संगठन की प्रमुख वैज्ञानिक सौम्या स्वामीनाथन ने बताया कि कोवैक्सीन के इस्तेमाल के लिए मंजूरी आगामी 4-6 हफ्तों में दे दी जाएगी। CSE द्वारा शुक्रवार को आयोजित वेबिनार में स्वामीनाथन ने कहा कि भारत बायोटक अब पोर्टल पर वैक्सीन का पूरा डाटा अपलोड कर रहा है जिसकी जांच कर WHO कोवैक्सीन की समीक्षा कर रहा है। WHO के दिशानिर्देशों के अनुसार, EUL प्रक्रिया के तहत नए या बगैर लाइसेंस के उत्पादों के इस्तेमाल की मंजूरी दी जाती है ताकि स्वास्थ्य को लेकर उत्पन्न आपातकालीन परिस्थितियों में इसका उपयोग किया जा सके।

स्वामीनाथन ने बताया,’ EUL के लिए एक प्रक्रिया से गुजरना होता है और वैक्सीन की मंजूरी प्राप्त करने के लिए कंपनी को तीन चरणों के ट्रायल का डाटा पेश करना होता है जिसकी जांच WHO के अंतर्गत विशेषज्ञों द्वारा किया जाता है और तब मंजूरी दी जाती है।’ फिलहाल WHO की ओर से कोरोना वैक्सीन फाइजर/बायोएनटेक, एस्ट्राजेनेका-एसके बायो/सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया, एस्ट्राजेनेका इयू, जानस्सेन, मॉडर्ना और सिनोफार्म को आपातकाल इस्तेमाल की मंजूरी दी गई है।

WHO की वैज्ञानिक ने यह भी कहा कि कोरोना वायरस का डेल्टा वैरिएंट काफी संक्रामक है। उन्होंने कहा, ‘वैक्सीन की दो खुराक डेल्टा वैरिएंट से बचाव के लिए आवश्यक है लेकिन इसके बावजूद आप संक्रमित हो सकते हैं और इसे फैला सकते हैं। इसलिए मास्क व अन्य सावधानियों को जारी रखना होगा।’ उन्होंने उन कंपनियों का भी जिक्र किया जो वैक्सीन की दो खुराक के बाद बूस्टर डोज की आवश्यकता पर जोर दे रहे हैं। उन्होंने कहा कि अभी बूस्टर डोज की जरूरत नहीं है और इसकी आवश्यकता एक या दो साल के बाद होगी। वैक्सीनेशन अभियान को संतोषजनक बताते हुए उन्होंने कहा,’ वैक्सीन लेने वालों में 8, 10 या 12 महीनों तक इम्यून रेस्पांस बरकरार देखा गया है।

RELATED ARTICLES

सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई के बाद प्रदर्शनकारियों ने गाजीपुर बार्डर से हटाए बैरिकेड

एफएनएन, नई दिल्ली : तीनों केंद्रीय कृषि कानूनों को वापस लेने की मांग को लेकर जारी प्रदर्शन के बीच बृहस्पतिवार को दिल्ली-उत्तर प्रदेश के गाजीपुर...

पत्नी ने ही सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया कोरियोग्राफर पुनीत पाठक का अश्लील वीडियो

एफएनएन, नई दिल्ली: बॉलीवुड के जाने-माने कोरियोग्राफर पुनीत पाठक का हाल ही में उनकी पत्नी ने एक ऐसा वीडियो सोशल मीडिया पर शेयर कर दिया...

दिव्यांग और असहाय लोगों को घर जाकर दी जाएगी वैक्सीन, सरकार का बड़ा फैसला

एफएनएन, दिल्ली : केंद्र सरकार ने आज कोरोना वैक्सीनेशन को लेकर अहम एलान किया। सरकार ने कहा कि दिव्यांग और असहाय लोगों को घर जाकर...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

सिडकुल पंतनगर के सीईटीपी प्लांट में प्लांट हेड समेत तीन कर्मचारियों की गिरकर मौत

एफएनएन, रुद्रपुर : पंतनगर सिडकुल में स्थित सीईटीपी प्लांट में प्लांट हेड समेत तीन लोगों की अमोनिया गैस से दम घुटने और डूब कर...

स्वयं सेवक संघ ने आपदा प्रभावितों को बांटा सामान

एफएनएन, रूद्रपुर : आपदा पीड़ितों की मदद के लिए स्वयं सेवक संघ के कार्यकर्ताओं ने हाथ बढ़ाते हुए रविवार को शहर की कई बस्तियों...

सीएम धामी के निर्देश पर बढ़ाई गई आपदा प्रभावितों को सहायता राशि

एफएनएन, देहरादून : मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने आपदा प्रभावितों को विभिन्न मदों में दी जा रही सहायता राशि को बढ़ाने के निर्देश दिए...

हरीश रावत ने आपदा को लेकर सरकार को घेरा, 28 अक्तूबर से प्रदेशभर में आंदोलन का एलान

एफएनएन, देहरादून : उत्तराखंड में बीते दिनों आई आपदा को लेकर पूर्व सीएम हरीश रावत ने एक बार फिर सरकार पर हमला बोला। सोमवार...

Recent Comments