Wednesday, January 26, 2022
04
01
03
WhatsApp Image 2021-10-31 at 13.53.47
DezireEvent
VeerSingh
previous arrow
next arrow
Shadow
01
02
04
WhatsAppImage2021-11-27at172143
1q21qa1
1q21qa2
1q21qa3
previous arrow
next arrow
Shadow
Home राज्य दिल्ली दूसरी मेड इन इंडिया वैक्सीन के लिए केंद्र ने की डील, 30...

दूसरी मेड इन इंडिया वैक्सीन के लिए केंद्र ने की डील, 30 करोड़ डोज़ कर लीं बुक

SPECIAL OFFERS IN GURUMAA ELECTRONICS

03
01
02
previous arrow
next arrow
Shadow

एफएनएन, नई दिल्ली: केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय कोरोना वैक्सीन की 30 करोड़ डोज के लिए हैदराबाद स्थित वैक्सीन निर्माता बायोलॉजिकल-ई को 1500 करोड़ रु एडवांस पेमेंट करेगा. ये वैक्सीन अगस्त-दिसंबर 2021 से मेसर्स बायोलॉजिकल-ई द्वारा निर्मित और स्टोर की जाएगी. फेज 1 और 2 क्लीनिकल ​​ट्रायल में पॉजिटिव रिजल्ट दिखने के बाद, बायोलॉजिकल-ई का COVID-19 वैक्सीन के लिए फेज-3 का क्लीनिकल ट्रायल चल रहा है. बायोलॉजिकल-ई द्वारा विकसित की जा रही वैक्सीन एक आरबीडी प्रोटीन सब-यूनिट वैक्सीन है. इसके अगले कुछ महीनों में उपलब्ध होने की उम्मीद है. बायोलॉजिकल-ई COVID-19 वैक्सीन को प्रीक्लिनिकल स्टेज से लेकर फेज -3 स्टडीज तक भारत सरकार ने मदद की है. जिसके लिए जैव प्रौद्योगिकी विभाग ने 100 करोड़ रुपये से ज्यादा की वित्तीय सहायता दी है.

Pfizer, Moderna की वैक्सीन के लिए बड़ा कदम

भारत में फाइज़र और मॉडर्ना जैसी विदेशी वैक्सीन को जल्द से जल्द लाने की कोशिशों में एक बड़ा कदम उठाया गया है. भारत की ड्रग नियामक संस्था ने ऐसी वैक्सीन्स के लिए भारत में अलग से ट्रायल कराने की शर्तों को हटा दिया है. अब ऐसी वैक्सीन जिन्हें दूसरे देशों में या विश्व स्वास्थ्य संगठन ने इमरजेंसी इस्तेमाल की मंजूरी मिल चुकी होगी, उन्हें भारत में ब्रिजिंग ट्रायल्स से नहीं गुजरना होना होगा.

स्वास्थ्य मंत्रालय के एक सूत्र ने कहा कि Pfizer और Moderna को लेकर ‘indemnity against liability’ को लेकर हमें दिक्कत नहीं है. अगर दूसरे देशों ने दिया है, तो हम भी तैयार हैं. सूत्र ने कहा कि अगर इन कंपनियों ने भारत में EUA (Emergency Use Authorisation) के लिए अप्लाई किया तो हम भी उन्हें मंजूरी देने को तैयार हैं. सूत्र ने बताया कि चूंकि मांग ज्यादा है इसलिए अब तक की स्थिति के हिसाब से इन दोनों वैक्सीन के भारत में आने में अभी वक्त लगेगा.

फाइज़र और मॉडर्ना उन विदेशी कंपनियों में शामिल हैं, जिन्होंने सरकार से इन्डेमनिटी यानी क्षतिपूर्ति और स्थानीय ट्रायलों से छूट देने की बात की थी. हालांकि, सरकार ने अभी तक किसी भी गंभीर दुष्प्रभाव के लिए मुआवजे से क्षतिपूर्ति या दायित्व पर कोई फैसला नहीं किया है, लेकिन ट्रायल न करने की बात मान ली गई है.

RELATED ARTICLES

आरआरबी-एनटीपीसी रिजल्ट को लेकर बवाल, पुलिस से भिड़े छात्र, रेलवे ट्रैक किया जाम

एफएनएन, दिल्ली : रेलवे भर्ती बोर्ड (आरआरबी) एनटीपीसी परीक्षा के रिजल्ट में संशोधन की मांग को लेकर अभ्यर्थियों का प्रदर्शन लगातार दूसरे दिन भी...

दिल्ली में हटाया जाएगा वीकेंड कर्फ्यू, केजरीवाल ने एलजी को भेजा प्रस्ताव

एफएनएन, दिल्ली : राजधानी दिल्ली में कोविड-19 मामलों में आ रही कमी को देखते हुए दिल्ली सरकार ने वीकेंड कर्फ्यू खत्म करने के लिए...

देश में 24 घंटे में तीन लाख के पार हुआ संक्रमितों का आंकड़ा, 8 महीने बाद टूटा रिकार्ड

एफएनएन, देहरादून : देश में कोरोना के मामलों में बढ़ोतरी जारी है। कोरोना के रोजाना आने वाले मामले अब तीन लाख के पार हो...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

आरआरबी-एनटीपीसी रिजल्ट को लेकर बवाल, पुलिस से भिड़े छात्र, रेलवे ट्रैक किया जाम

एफएनएन, दिल्ली : रेलवे भर्ती बोर्ड (आरआरबी) एनटीपीसी परीक्षा के रिजल्ट में संशोधन की मांग को लेकर अभ्यर्थियों का प्रदर्शन लगातार दूसरे दिन भी...

आम आदमी पार्टी ने जारी की प्रत्याशियों की चौथी सूची

एफएनएन, रुद्रपुर : आम आदमी पार्टी ने प्रत्याशियों की चौथी सूची जारी कर दी है। जिसमें पार्टी ने 10 दावेदारों के नाम का एलान किया...

पुलिस ने एक व्यक्ति को नाजायज चाकू के साथ किया गिरफ्तार

एफएनएन, काशीपुर : बांसफोड़ान पुलिस चैकी में तैनात कांस्टेबल देवेन्द्र पांडेय व कुशल सिंह ने मौहल्ला अल्लीखां में कब्रिस्तान के पास से हजरत नगर...

पुलिस ने स्मैक के साथ एक व्यक्ति को किया गिरफ्तार

एफएनएन, काशीपुर : पुलिस ने स्मैक के साथ एक युवक को गिरफ्तार किया है। कटोराताल पुलिस चैकी प्रभारी नवीन बुधानी, कांस्टेबल मोहन व प्रेम...

Recent Comments