Sunday, November 28, 2021

HAPPY DIWALI

11
04
09
13
14
10
07
01
05
02
03
08
06
12
SushilGaba
SandeepCheemaAd
ChathPuja
previous arrow
next arrow
Shadow
04
01
03
02
WhatsApp Image 2021-10-31 at 13.53.47
previous arrow
next arrow
Shadow
01
02
04
03
WhatsAppImage2021-11-27at172143
previous arrow
next arrow
Shadow
Home राज्य दिल्ली लखीमपुर खीरी हिंसा : सुप्रीम कोर्ट ने दिया रिटायर्ड हाईकोर्ट जजों की...

लखीमपुर खीरी हिंसा : सुप्रीम कोर्ट ने दिया रिटायर्ड हाईकोर्ट जजों की निगरानी में केस की जांच कराने का प्रस्ताव

SPECIAL OFFERS IN GURUMAA ELECTRONICS

03
01
02
previous arrow
next arrow
Shadow

एफएनएन, नई दिल्ली : उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी में तीन अक्टूबर को हुई घटना से जुड़े मामले में सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई हुई। सुप्रीम कोर्ट ने लखीमपुर खीरी मामले में उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा दायर की गई स्टेटस रिपोर्ट पर नाखुशी जाहिर की। सुप्रीम कोर्ट का कहना है कि स्थिति रिपोर्ट में यह कहने के अलावा कुछ भी नहीं है कि और गवाहों से पूछताछ की गई है। उत्तर प्रदेश सरकार की ओर से पेश वरिष्ठ अधिवक्ता हरीश साल्वे ने सुप्रीम कोर्ट को बताया कि लैब की रिपोर्ट 15 नवंबर तक आ जाएगी। सुप्रीम कोर्ट ने यूपी सरकार से पूछा कि केवल आशीष मिश्रा का फोन ही क्यों जब्त किया गया है, दूसरों के बारे में क्या?

सुप्रीम कोर्ट का कहना है कि यह सुनिश्चित करने के लिए कि मामले में सबूतों का मिश्रण नहीं है, हम मामले की जांच की निगरानी के लिए एक अलग उच्च न्यायालय के पूर्व न्यायाधीश को नियुक्त करने के इच्छुक हैं। सुप्रीम कोर्ट का सुझाव है कि पंजाब और हरियाणा उच्च न्यायालय के न्यायमूर्ति राकेश कुमार जैन (सेवानिवृत्त) या न्यायमूर्ति रंजीत सिंह (सेवानिवृत्त) लखीमपुर खीरी जांच की देखरेख कर सकते हैं। सुप्रीम कोर्ट ने लखीमपुर खीरी हिंसा मामले में अलग-अलग एफआईआर में गवाहों की मिलीभगत पर असंतोष व्यक्त किया और चल रही जांच की निगरानी के लिए पंजाब और हरियाणा उच्च न्यायालय के एक पूर्व न्यायाधीश को नियुक्त करने का प्रस्ताव रखा।

कृषि कानूनों के खिलाफ विरोध प्रदर्शन के दौरान हिंसा में चार प्रदर्शनकारियों समेत आठ लोगों की मौत हो गई थी। प्रधान न्यायाधीश एनवी रमना, जस्टिस सूर्य कांत और जस्टिस हिमा कोहली की पीठ इस मामले पर सुनवाई कर रही है। 26 अक्टूबर को शीर्ष कोर्ट ने उत्तर प्रदेश सरकार को मामले के गवाहों को संरक्षण प्रदान करने का निर्देश दिया था।

सुप्रीम कोर्ट ने उत्तर प्रदेश सरकार को मामले के अन्य गवाहों के बयान दंड प्रक्रिया संहिता (सीआरपीसी) की धारा 164 के तहत दर्ज करने का भी निर्देश दिया था और डिजिटल साक्ष्यों की विशेषज्ञों द्वारा जल्द जांच कराने को कहा था। शीर्ष अदालत ने राज्य सरकार को एक पत्रकार और श्याम सुंदर नामक एक व्यक्ति की भीड़ द्वारा कथित तौर पर पीट-पीटकर हत्या के मामले में स्थिति रिपोर्ट दाखिल करने का निर्देश दिया था। दो अधिवक्ताओं ने प्रधान न्यायाधीश को पत्र लिखकर लखीमपुर खीरी मामले की उच्चस्तरीय जांच की मांग की थी। इसी पृष्ठभूमि में अदालत मामले की सुनवाई कर रही है।

सुप्रीम कोर्ट ने राज्य सरकार को एक पत्रकार की और श्याम सुंदर नामक एक व्यक्ति की भीड़ द्वारा कथित तौर पर पीट-पीटकर हत्या के मामले में स्थिति रिपोर्ट दाखिल करने का निर्देश दिया था। दो अधिवक्ताओं ने चीफ जस्टिस को पत्र लिखकर लखीमपुर खीरी मामले की उच्च स्तरीय जांच की मांग की थी। इसी पृष्ठभूमि में कोर्ट मामले की सुनवाई कर रहा है। राज्य सरकार की ओर से पेश अधिवक्ता ने 26 अक्टूबर को पीठ को बताया था, ’68 गवाहों में से 30 के बयान सीआरपीसी की धारा 164 के तहत दर्ज किए जा चुके हैं और अन्य कुछ के बयान भी दर्ज किए जाएंगे। इन 30 गवाहों में से 23 ने चश्मदीद होने का दावा किया है।’

 

RELATED ARTICLES

कृषि कानूनों को रद करने वाले बिल को कैबिनेट की मंजूरी, आंदोलन जारी रखने पर किसान अड़े

एफएनएन, दिल्ली : केंद्रीय मंत्रिमंडल की बैठक में तीन कृषि कानूनों को वापस लेने के प्रस्ताव को मंजूरी मिल गई है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी...

दिल्ली प्रदूषण : सुप्रीम कोर्ट की फटकार- हालात बिगड़ने से पहले एक्शन क्यों नहीं लेतीं सरकारें

एफएनएन, दिल्ली : सुप्रीम कोर्ट में दिल्ली-एनसीआर में बढ़ते वायु प्रदूषण के मामले पर बुधवार को सुनवाई हुई। कोर्ट ने केंद्र सरकार से कहा...

केंद्रीय कैबिनेट की बैठक : तीनों कृषि कानूनों को निरस्त करने को मिल सकती है मंजूरी

एफएनएन, दिल्ली : केंद्रीय मंत्रिमंडल आज तीन कृषि कानूनों को वापस लेने के प्रस्ताव को मंजूरी दे सकता है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की ओर...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

हरिद्वार से 40 हजार कार्यकर्त्‍ता प्रधानमंत्री को सुनने जाएंगे देहरादून, चार को होगी परेड ग्राउंड में रैली

एफएनएन, हरिद्वार : प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की चार दिसंबर को देहरादून के परेड ग्राउंड में होने वाली रैली एतिहासिक होगी। जिले की सभी 11...

पारिवारिक मित्र से ही कर ली 65 लाख की ठगी, धोखाधड़ी कर बेच दिया बैंक में गिरवी रखा मकान लोन एनपीए होने पर खुली...

एफएनएन, रुद्रपुर : बैंक लोन और जमीन संबंधी धोखाधड़ी का गंभीर मामला प्रकाश में आया है। फैक्टी के लिए बैंक से लिए गए ऋण...

ओमिक्रान वैरिएंट प्रभािवत अफ्रीकी देश कांगों से ऊधमसिंहनगर पहुंचा युवक, स्वास्थ्य विभाग अलर्ट

एफएनएन, रुद्रपुर : साउथ अफ्रीका के देशों में फैले कोविड-19 के नए वैरिएंट ओमिक्रान (Omicron Variant) से दुनियाभर में अफरातफरी मची हुई है। जिसको लेकर...

उत्तराखंड : चकराता स्थित एक बटालियन में सेना के कई जवान पाए गए संक्रमित, किया गया क्वारंटीन

एफएनएन, देहरादून : उत्तराखंड में सेना की बटालियन में कई जवान कोरोना संक्रमित पाए गए हैं। उक्त जवानों को क्वारंटीन कर दिया गया है।...

Recent Comments